Followers

गुरुवार, 28 मार्च 2013

फ़ेसबुकिया फ़ागुन

 

 

ताऊ टीवी चैनल से ताऊ जी से मिला होली का पिरसाद …..ग्रहण करिए

पिछले कुछ सालों में होली के आसपास लकडी पानी बचाने का घनघोर नारा लगाने का रिवाज़ चल निकला है , तो इसका भी तोड है न म्हारे फ़ोडू के पास , देखिए हमारे सूरमाओं ने होली पे हो हल्ला मचा के रख दिया है ..झेलिए इस फ़ेसबुकिया फ़ागुन को …………….

  
  • DrKavita Vachaknavee
    रंगों से खेले लगभग 15 वर्ष हो गए.... और चाह कर भी खेलना संभव नहीं। यहाँ तो अभी कल व परसों भी हिमपात का दिन है।
    होली आप सब के जीवन में अनन्त खुशियों के रंग भरे।
    अपने मित्रों परिजनों के साथ आप सौ बरस और रंग खेलें और आप पर बीस-पचास रंग हर बरस डलते रहें ... :) रंग भरी शुभकामनाएँ
      
  • Mridula Shukla
    सुबह से होली की धूम रही
    हम एक दुसरे के गालों पर लगा कर
    काले, हरे ,सियाह रंग
    एक दुसरे के चेहरों को कर बदरंग
    नाचते रहे ढोलकी की थाप पर
    ढोलकी भी गाता रहा
    "चिपका ले सैयां फेविकोल से "
    और बेचारा फाग
    दूर उदास खड़ा हमें देखता रहा
    मैंने बात की तो कहने लगा .......................
    अफ़सोस करूँ ये की मुझे भूल गए सब
    या यूँ कहूं की लोग मुझे जानते नहीं
    फाग .....(फागुन मैं होली पर गाया जाने एक विशेष गीत )
    मृदुला
      
  • अजय कुमार झा
    पी के भांग , खा के पुआ , इससे पहिले कि हम हो जाएं लमलेट , और हो जाए लेट,
    आप सबको होली ही रंगारंग मुबारकबाद है हो , अब चाहे घोलट जाए इंटरनेट ,
    साला पिछली तीन दिन से नाटक पसारे हुए ससुरा ..........
      
  • देवेन्द्र बेचैन आत्मा
    होली खेलकर आये तो देखा फेसबुक इतना धीमा चल रहा है कि एक फोटो लोड करने मे आधा घंटा लग जा रहा है। बोर हो गये अपन तो..:(
      
  • Sangita Puri
    बिहार और झारखंड में नॉनवेज खाने की होली आज है .. पूए और मिठाई खाने की कल
  • Anup Shukla
    "रंग बरसे भीगे चुनर वाली" इतने दिनों से बज रहा है कि सही में ऐसा होता तो गोरी को डबल निमोनिया हो गया होता। :)
       
          • Vandana Singh
            एक बर्फीली परत हट जाए तो नव निर्माण या नव सृजन की सम्भावना अवश्यम्भावी है ।
            क्या सचमुच....?
            शायद होली का उत्सव ऐसी संभावनाओं का आधार है... जिसमें संभावनाओं और संबंधों की पुनर्स्थापना और नव स्थापना के साथ साथ स्वय पर आच्छादित हिम आवरण को त्याग कर एक संतुलन और तादात्म्य स्थापित किया जा सकता है । जीवन में रंग भरे जा सकते हैं ।
            रंगोत्सव की अशेष शुभकामनाएं.....
              
      • Chandi Dutt Shukla
        तमाम शोर, हुल्लड़, उल्लास और जोश के बीच उदासी कहीं दूर नहीं जाती। नीचे की ओर मुंह धंसाकर दिल के किसी कोने में कैद भर हो जाती है। जैसे ही, बैठे, अकेले - यादें, तनहाई और उदासी ख़तरनाक तरीके से तलवारें घुमाते आ जाते हैं, कतरा-कतरा चीरने :(
              •   
                Pramod Mishra
                नशेड़ियो आज 28 तारीख की सुबह हो गई होली गई अब तो होश में आ जाओ
                 
      • DrArvind Mishra
        होली के फुटकर संस्मरण
        बात अंतर्जाल युग की ही है। मौसम भी कुछ ऐसा ही खुशनुमा था . एक शहर में कुछ काम था -पहुंचा तो मित्रों ने एक गेट टुगेदर रख लिया . कई उपस्थित हुए मगर किसी की अनुपस्थिति प्रमुख बन गयी .उनका कहना था कि उन्हें लोगों की भीड़ में मिलना पसंद नहीं ....बात आयी गयी हो गयी -फिर बहारे आयीं तो मैं अकेला उसी शहर पहुंचा . वे तब भी नहीं आयीं -फिर बात आयी गयी हुई . काफी बाद में उनसे मैंने पूछा क्या इतना विश्वास नहीं है मुझ पर तो बताया कि नहीं मुझ पर तो पूरा विश्वास है मगर उन्हें खुद पर ही भरोसा नहीं था -कहीं भटक जातीं तो ? लीजिये अब इस बात का भी कोई जवाब है ! :-) इस तरह एक फलसफे का अंत हो गया! :-)

        18 टिप्‍पणियां:

        1. वाकई फेसबुक संग्रह के चुने हुए मोती. (रंग बरसे माहौल के)
          बधाई, शुभकामनाएँ और आभार भी...

          उत्तर देंहटाएं
        2. होली की हुड़दंग वाली तस्वीर लगानी थी न..:)

          उत्तर देंहटाएं
        3. होली पर बेहतरीन प्रसाद,आभार.

          उत्तर देंहटाएं
        4. फेस वाली बुक की रीडिंग पर तो आप पीएचडी कर लो अजय भाई ... ;)


          आज की ब्लॉग बुलेटिन क्योंकि सुरक्षित रहने मे ही समझदारी है - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

          उत्तर देंहटाएं
        5. बढ़िया चुनाव ,ऊपर जो होली डूबा पाँच लोगों का फ़ोटो है वहाँ भी मिलावट !

          उत्तर देंहटाएं

        पोस्ट में फ़ेसबुक मित्रों की ताज़ा बतकही को टिप्पणियों के खूबसूरत टुकडों के रूप में सहेज कर रख दिया है , ...अब आप बताइए कि आपको कैसी लगे ..इन चेहरों के ये अफ़साने